धर्मेंद्र ही नहीं ये दो बड़े अभिनेता भी थे हेमा मालिनी के दीवाने, जानें ऐसे ही कुछ दिलचस्प किस्से

हेमा मालिनी बॉलीवुड की उन चुनिंदा अभिनेत्रियों में से एक हैं जिन्होंने अपनी मेहनत के दम पर नाम कमाया है। भले ही आज के समय में हेमा मालिनी का नाम बॉलीवुड की टॉप अभिनेत्रियों में शामिल हो, लेकिन अपने करियर की शुरुआत में हेमा को काफी संघर्ष करना पड़ा था।

Bollywood Halchal Oct 16, 2020

ड्रीम गर्ल के नाम से मशहूर हेमा मालिनी का आज जन्मदिन हैं। हेमा मालिनी बॉलीवुड की सबसे खूबसूरत और सफल अभिनेत्रियों में से एक है। हेमा ने जब बॉलीवुड में कदम रखा था तो सिर्फ दर्शक ही नहीं बल्कि कई बड़े-बड़े अभिनेता भी उनके दीवाने हो गए थे। हेमा एक सफल अभिनेत्री के साथ-साथ एक अच्छी डाँसर भी हैं। इसके साथ ही वे राजनीति में भी सक्रिय हैं और मथुरा से बीजेपी सांसद भी हैं।आइए आज हेमा मालिनी के जन्मदिन पर जानते हैं उनकी ज़िंदगी से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें -   
 
हेमा मालिनी का जन्म 16 अक्टूबर 1948 को तमिलनाडु के एक अयंगर परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम वी एस आर चक्रवाती था और उनकी माँ, जया लक्ष्मी एक फिल्म प्रोडूसर थीं। हेमा ने अपनी शुरूआती पढ़ाई चेन्नई के आन्ध्र महिला सभा से की थी। बचपन से ही हेमा का झुकाव एक्टिंग की तरफ था इसलिए उन्होंने पढ़ाई छोड़ कर फिल्मों में अपना करियर बनाने का फैसला किया। 

हेमा मालिनी बॉलीवुड की उन चुनिंदा अभिनेत्रियों में से एक हैं जिन्होंने अपनी मेहनत के दम पर नाम कमाया है। भले ही आज के समय में हेमा मालिनी का नाम बॉलीवुड की टॉप अभिनेत्रियों में शामिल हो, लेकिन अपने करियर की शुरुआत में हेमा को काफी संघर्ष करना पड़ा था। यहाँ तक की तमिल निर्देशक श्रीधर ने उन्हें अपनी फिल्म में काम देने से यह कहा कर इन्कार कर दिया था कि उनमें स्टार अपीलिंग नहीं है। इस बात से हेमा मालिनी को बड़ा झटका लगा था लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी। 
 

इसे भी पढ़ें: जब रेखा ने न्यूड फोटोशूट करवा मचा दिया था तहलका, जानें रेखा की माँग में लगे सिन्दूर की पूरी कहानी


हेमा ने अपने बॉलीवुड करियर की शुरुआत साल 1968 में आई फिल्म 'सपनों का सौदागर' से की थी। इस फिल्म में उन्होंने दिग्गज बॉलीवुड अभिनेता राजकुमार के साथ काम किया था। हालाँकि, फिल्म कुछ खास चली नहीं लेकिन हेमा मालिनी को दर्शक पसंद करने लगे। इस फिल्म के बाद से हेमा मालिनी मीडिया में ड्रीम गर्ल के नाम से मशहूर हो गयी थीं। इसके बाद साल 1970 में हेमा ने देवानंद के साथ 'जॉनी मेरा नाम' फिल्म में काम किया और फिल्म सुपर हिट रही। इसके बाद से हेमा मालिनी को कई बड़ी फिल्मों के ऑफर आने लगे थे। साल 1973 में आई फिल्म सीता और गीता से हेमा ने बॉलीवुड में अपनी एक अलग पहचान बनाई। इस फिल्म के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का फ़िल्मफेयर पुरस्कार मिला था। हेमा मालिनी को फिल्मों में योगदान के लिए 1999 में फिल्मफेयर का लाइफटाइम एचीश्री सम्मान से भी सम्मानित किया गया था। इसके अलावा उन्हें भारत सरकार साल 2000 में पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित किया।
 

इसे भी पढ़ें: बॉलीवुड के इन 5 बड़े सितारों ने सिर्फ रील लाइफ ही नहीं रियल लाइफ में भी घर से भागकर शादी रचाई थी


साल 1975 में रमेश सिप्पी की फिल्म शोले हेमा मालिनी के लिए मील का पत्थर साबित हुई। इस फिल्म में हेमा को बसंती के किरदार में दर्शकों ने खूब पसंद किया और फिल्म सुपर हिट रही। इस फिल्म की शूटिंग के दौरान ही हेमा और धर्मेंद्र के बीच नजदीकियाँ बढ़ने लगीं थी। धर्मेन्द्र, हेमाँ को बहुत पसंद करते थे और उनसे शादी करना चाहते थे। धर्मेंद्र के अलावा भी कई अन्य सुपरस्टार्स भी हेमा को अपना दिल दे बैठे थे। हेमा ने अपनी ऑटोबायॉग्रफी में इस बात का खुलासा किया है कि उन्हें जितेंद्र और संजीव कुमार ने भी शादी के लिए प्रपोज किया था लेकिन हेमा धर्मेंद को पसंद करती थीं। हेमा और धर्मेंद्र एक-दूसरे से शादी करना चाहते थे लेकिन दोनों के लिए शादी करना इतना आसान नहीं था क्योंकि धर्मेंद्र पहले से ही शादीशुदा थे। लेकिन बाद में दोनों ने इस्लाम धर्म कुबूल किया और छुपके से शादी कर ली। हेमा और धर्मेंद की दो बेटियाँ हैं - आयशा और आहना।

Find Us



बॉलीवुड हलचल

बॉलीवुड की चटपटी खबरों के साथ ही पढ़िये हर नयी फिल्म की सबसे सटीक समीक्षा। साथ ही फोटो और वीडियो गैलरी में देखिये बॉलीवुड की हर हलचल।


लेटेस्ट पोस्ट


L o a d i n g