एक ही दिन जन्मी थीं बॉलीवुड की यह तीन बड़ी हस्तियां, जानिए तीनों के बारे में कुछ अनोखे फैक्ट्स

सोनू निगम हिन्दी फ़िल्मों के प्रसिद्ध गायक हैं। मेरठ, उत्तर प्रदेश में जन्मीं मन्दाकिनी एक भूतपूर्व भारतीय अभिनेत्री हैं।लुधियाना, पंजाब में जन्में सोनू सूद एक भारतीय फ़िल्‍म अभिनेता, मॉडल और फिल्म निर्माता हैं। आज इन तीनों हस्तियों के जन्मदिन पर जानिए इनके जीवन से जुड़े कुछ अनोखे फैक्ट्स।

Bollywood Halchal Jul 30, 2020

1)- सोनू निगम:

सोनू निगम हिन्दी फ़िल्मों के प्रसिद्ध गायक है। उन्होंने हिन्दी के अलावा कन्नड़, उड़िया, तमिल, असमिया, पंजाबी, बंगाली, मराठी आदि भाषाओं के साथ उन्होंने फ़िल्मों में भी गाना गाया है।आइये जानते है सोनू निगम के बारे में अननोन फैक्ट्स:

1.फिल्मों में गाना गाने से पहले वह अपने पिता के साथ शादियों और पार्टियों में स्टेज पर गाना गाया करते थे। गाना गाने से पहले सोनू निगम का अभिनय करियर बाल कलाकार के रूप में  फ़िल्म 'बेताब' से शुरू हुआ। बाद में वे जाॅनी दुश्मनः एक अनोखी कहानी, काश आप हमारे होते और लव इन नेपाल जैसी फिल्मों में दिखाई दिए लेकिन वह अभिनय में हाथ आज़माने के बाद भी वह ज़्यादा सफल नहीं हो पाए।

2.फ़िल्मों में गाना गाने के अलावा कई मशहूर टीवी जैसे 'सा रे गा मा पा','इंडियन आइडल','अमूल स्टार वाॅयस आफ इंडिया 'आदि टेलीविज़न शो में दिख चुके है सोनू निगम। टी-सीरीज के वज़ह से मिली थी सोनू निगम को पहचान- सोनू निगम को पहचान तब मिली जब टी-सीरीज ने उनकी आवाज में मोहम्मद रफी के गाए गाने रफी की यादें को लॉन्च किया।

3.फ़िल्मों के टाइटल ट्रैक के लिए भी नवाजे जा चुके है सोनू निगम:  सन् 2002 में फ़िल्म 'साथिया' के टाइटल ट्रैक के लिए सोनू निगम को बेस्ट सिंगर का अवॉर्ड मिला चुका है। फिर सन् 2003 में फ़िल्म 'कल हो ना हो' के टाइटल ट्रैक के लिए भी उन्हें फ़िल्मफ़ेयर के साथ नेशनल अवॉर्ड भी मिला। 'बॉर्डर' में गाया गाना 'संदेशे आते है' सुपरहिट गाना सोनू निगम द्वारा ही फरमाया गया है।

4.विवादों से भी सोनू निगम का पुराना नाता रहा है: उनका एक विवाद अजान को लेकर एक ट्वीट के लिए हुआ था। जिसमें उन्होंने ट्विटर पर ट्वीट किया था कि मैं मुस्लिम नहीं हूं तो मैं अजान की आवाज सुनकर क्यों उठूं। भारत में कबतक धार्मिक रीतियों को जबरदस्ती ढोना पड़ेगा।' इस ट्वीट के बाद बात इतनी बढ़ गई थी कि उन्हें सफाई दि कि वह सिर्फ़ लाउडस्पीकर के खिलाफ है।

2)- मंदाकिनी:

मेरठ, उत्तर प्रदेश में जन्मीं मन्दाकिनी एक भूतपूर्व भारतीय अभिनेत्री है। उनकी बॉलीवुड में जीवन-यात्रा बहुत ही कम रही है। "राम तेरी गंगा मैली" उनकी पहली फ़िल्म थी।आइये जानते है उनके बारे में अननोन फैक्ट्स:

1.दाऊद अब्राहम का मंदाकिनी के साथ नाम जोड़ा जा चुका है जिसके बाद उनका बॉलीवुड करियर  खत्म हो गया। दाऊद अब्राहम से नाम जुड़ने के पूर्व ही उन्होंने फिल्मों में काम करने के बारे में सोचना ही बंद कर दिया और उन्होंने एक डॉक्टर कगयुर टी रिनपोचे ठाकुर से शादी कर ली।

2.फ़िल्म "राम तेरी गंगा मैली" के बाद वह सक्सेस नहीं हो पाई जिसके बाद सन् 1994 में उनकी तस्वीरें दाऊड अब्राहम के साथ सामने आई जिसके बाद इस तस्वीर को देखकर सभी शौक रह गये।उसके बाद सबको लगा कि इन दोनों का अफेयर है और यही से उनकी असफलता का सफर शुरू हो गया था।

3.अपने समय की बोल्ड अभिनेत्रियो में नम्बर वन की लिस्ट मे थी मंदाकिनी: जिस समय मंदाकिनी ने फ़िल्मों में बोल्ड सीन शूट किए , उस वक्त लोग लड़कियों को फिल्मों में काम नहीं करने देना चाहते थे। उनके बोल्ड सीन की वजह से उन्हें आज भी इंडस्ट्री में कोई नहीं भूला।

4. फ़िल्मों में आने के बाद नाम चेन्च करने का फार्मूला अपनाया: आपको जानकर हैरानी होगी कि मंदाकिनी का रियल नाम मंदाकिनी नहीं बल्कि यासमीन जोसेफ है पर इस नाम की वज़ह से उन्हें फ़िल्में नहीं मिलती थी और दूसरे एक्ट्रेसेज की तरह फिल्मों में फेमस होने के लिए उन्होंने भी नाम बदलने का फॉर्मूला अपनाया।

3)- सोनू सूद:

लुधियाना, पंजाब में जन्में सोनू सूद एक भारतीय फ़िल्‍म अभिनेता, मॉडल और फिल्म निर्माता है। उन्होंने टॉलीवुड, कॉलीवुड, बॉलीवुड और कन्‍नड़ फिल्मों में भी काम कर चुके है। आईए जानते है सोनू सूद के बारे में कुछ अननोन फैक्ट्स और मज़ेदार बातें:

1.इंजिनीयर सोनू सूद: सोनू ने वाईसीसीई नागपुर से इलेक्‍ट्रानिक्‍स में इं‍जीनियरिंग की।फ़िल्मों में भले ही उन्होंने विलन का किरदार निभाया हो लेकिन रियल लाइफ हीरो है सोनू सूद। आज जब पूरी दुनिया कोरोना वायरस की महामारी जैसें संकट से जूझ रही है। तो इस समय में सोनू सूद मजबूरों के लिए मसीहा बनकर सामने आए है और उन्होंने प्रवासी मजदूरों को उनके घर तक पहुंचाने में सहायता कि और अब आर्थिक मदद पंहुचाने के कार्य में लगे है।

2.फिल्मों में काम करने की ख्वाहिश बचपन से ही थी: सोनू सूद जाब के रहने वाले है, उनके पिता की कपड़े की दुकान थी और उनकी माँ प्रोफेसर थी। दोनों चाहते थे कि सोनू सूद बड़े होकर एक अच्छा और बड़ा आदमी बने। इसीलिए उन्होंने इंजीनियरिंग करने के लिए सोनू को नागपुर भेजा लेकिन इंजीनियरिंग बनने  के बाद उनके अंदर हीरो बनने की ख्वाहिश आ चुकी थी।

3.फ़िल्मों में आने से सोनू सूद कि स्ट्रगल लाइफ: इंजीनियरिंग के बाद कोई भी सोनू सूद को फ़िल्म में नहीं जाने दे रहा था। लेकिन उन्होंने कहा कि अगर वह कुछ नहीं कर सके तो वह वापस आकर पापा की कपड़े की दुकान संभाल लेंगे। स्ट्रगल के दिनों में सोनू एक फ्लैट में 5-6 लोगों के साथ रहते थे। स्ट्रगल के बावजूद भी उनको कोई काम नहीं मिल रहा था। फिर किसी फ़िल्म के लिए हीरो ढूंढा जा रहा था उन्होंने अपनी फोटो भेजी और उनकी किस्मत यही से खुल गयी और साउथ इंडियन फिल्म के लिए उन्हें सेलेक्ट कर लिया गया।

4.डेडिकेटेड एक्टर में से एक है सोनू सूद: सोनू बहुत ही डेडिकेटेड एक्टर में से एक है।वह अपने रोल को लेकर काफी सजग और एक्टीव रहते है। वह अपनी बॉडी को लेकर भी बहुत केयरफूल रहते है, यही वज़ह है कि एक्टर्स की अच्‍छी बॉडी की लिस्‍ट में उनका भी नाम शुमार होता है।



Find Us



बॉलीवुड हलचल

बॉलीवुड की चटपटी खबरों के साथ ही पढ़िये हर नयी फिल्म की सबसे सटीक समीक्षा। साथ ही फोटो और वीडियो गैलरी में देखिये बॉलीवुड की हर हलचल।


लेटेस्ट पोस्ट


L o a d i n g