आखिर क्यूँ अमिताभ बच्चन को पिता ने जया बच्चन के साथ घूमने जाने के लिए कर दिया था मना

जया बच्चन हिंदी फिल्मों का एक जाना माना चेहरा हैं, राजनीति में भी ये समाजवादी पार्टी की तरफ से सक्रिय सांसद हैं। इस महान अभिनेत्री का जन्म 9 अप्रैल 1948 में जबलपुर में हुआ। जया बच्चन महानायक की पत्नी होने के साथ ही एक बहुत अच्छी अभिनेत्री भी हैं, जिन्होंने अपनी प्रतिभा के दम पर पहचान बनाई।

Bollywood Halchal Mar 30, 2020

जया बच्चन हिंदी फिल्मों का एक जाना माना चेहरा हैं, राजनीति में भी ये समाजवादी पार्टी की तरफ से सक्रिय सांसद हैं। इस महान अभिनेत्री का जन्म 9 अप्रैल 1948 में जबलपुर में हुआ। जया बच्चन बंगाली हिन्दू परिवार से सम्बन्ध रखती हैं। जया बच्चन के पिता का नाम तरुण कुमार भादुड़ी था, जोकि लेखक के साथ पत्रकार भी थे। उनकी माता इंदिरा भादुड़ी घर सम्भालने वाली घरेलू महिला थीं।

शादी और फ़िल्मी जीवन-

जीवनसाथी-अमिताभ बच्चन 
बच्चे- अभिषेक बच्चन, श्वेता बच्चन नंदा

3 जून 1973 को इन्होंने हिंदी फिल्मों के महानायक अमिताभ बच्चन से शादी की जिसके बाद इनका नाम जया भादुड़ी से जया बच्चन हो गया।
1973 में अभिमान फ़िल्म में अमिताभ बच्चन और जया बच्चन साथ नजर आए इस फ़िल्म के दौरान उन्होंने शादी करने का फैसला ले लिया था। इस फ़िल्म के बाद अमिताभ बच्चन और जया बच्चन दोस्तों के साथ छुटियां मनाने जाने वाले थे। लेकिन हरिवंशराय बच्चन ने कहा कि अगर वो जया के साथ घूमने जाना चाहते हैं। तो पहले जया से शादी करनी होगी, और अमिताभ बच्चन ने ये बात मान ली और जया बच्चन से शादी कर ली ।

अमिताभ की बारात में पिता के अलावा केवल पांच लोग आए थे। जिनमें फिल्म इंडस्ट्री से केवल गुलजार थे। जया की ओर से माता-पिता और बहनों के अलावा, अभिनेता असरानी और फरीदा जलाल बारात की अगवानी करने आए। शादी के बाद एक भव्य कार्यक्रम में पूरी फिल्म इंडस्ट्री को आमंत्रित किया गया था। 

शादी के बाद भी जया फिल्में करती रहीं। शोले फ़िल्म के दौरान जया माँ बनने वाली थीं। इस फ़िल्म की रिलीज़ के दौरान जया ने श्‍वेता को जन्म दिया। अभिषेक के जन्म के बाद जया फिल्मों से धीरे-धीरे दूर होती गयीं। फिल्मों से दूर होने का फैसला परिवार का सामुहिक फैसला था।

फिल्मी जीवन में पहचान-

1. 1972 में ‘उपहार’ फिल्म के लिए जया बच्चन को फिल्मफेयर स्पेशल अवार्ड मिला था। जो कि इनका पहला फिल्मफेयर अवार्ड था।
2. साल 1994 में फिल्म ‘अभिमान’ एवं सन् 1995 में कोरा कागज फिल्म में उनके काम  के लिए जया बच्चन को फिल्मफेयर बेस्टअभिनेत्री के सम्मान से सम्मानित किया गया था।
3.साल 1980 में ‘नौकर’ फिल्म में जया बच्चन की एक्टिंग को फिल्मफेयर से सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार देकर सराहा  गया। फिल्म में जया की एक्टिंग देखकर सभी कॉम्पिटिटर भी तारीफ करने पर मजबूर हो गए थे।
4.साल 1992 में भारत सरकार द्वारा इनकी लगन और प्रतिभा को देखते हुए इन्हें पद्मश्री पुरस्कार भी दिया गया था। ये अवार्ड उन्हीं लोगों को दिया जाता है, जिन्होंने अपने क्षेत्र में अच्छा खासा मुकाम बनाया हो।

राजनीतिक जीवन-

फिल्मी जगत में अपनी एक महान अभिनेत्री के रूप में छाप छोड़ने के बाद जया ने लोगों की सेवा के लिए उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी से चुनाव लड़ने का फैसला लिया। पहले ही चुनाव में जया बच्चन को भारी मतों से जीत मिली। 2004 में इनको समाजवादी पार्टी की तरफ से  राज्यसभा में सांसद चुना गया। 2006 में इन्हें दोबारा राज्यसभा भेजा गया। 2012 में वे फिर से राज्यसभा में निर्वाचित हुईं। 2018 में ये फिर से चौथी बार सांसद निर्वाचित हुई। इनकी लगनशीलता की वजह से पार्टी और जनता दोनों ने जया बच्चन  पर भरोसा जताया।

जया बच्चन महानायक की पत्नी होने  के साथ ही एक बहुत अच्छी अभिनेत्री भी हैं, जिन्होंने अपनी प्रतिभा के दम पर पहचान बनाई। जया बच्चन एक जनता की चहेती नेत्री भी हैं।

Find Us



बॉलीवुड हलचल

बॉलीवुड की चटपटी खबरों के साथ ही पढ़िये हर नयी फिल्म की सबसे सटीक समीक्षा। साथ ही फोटो और वीडियो गैलरी में देखिये बॉलीवुड की हर हलचल।


लेटेस्ट पोस्ट


L o a d i n g