Aarya Review : सुष्मिता सेन ने लेडी डॉन 'आर्या' के रूप में एक्टिंग में किया दमदार कमबैक

'आर्या' 19 जून को डिजनी प्लस हॉटस्टार पर रिलीज हो चुकी है और इस वेब सीरीज ने दर्शकों के दिलों में एक अलग जगह भी बना ली है। रिलीज होते ही इस वेब सीरीज को दर्शकों से खूब प्यार मिला और खासकर सुष्मिता सेन 'आर्या' की एक्टिंग को खूब सराहा गया है।

Bollywood Halchal Jun 30, 2020

सुष्मिता सेन स्टारर 'आर्या' 19 जून को डिजनी प्लस हॉटस्टार पर रिलीज हो चुकी है और इस वेब सीरीज ने दर्शकों के दिलों में एक अलग जगह भी बना ली है। रिलीज होते ही इस वेब सीरीज को दर्शकों से खूब प्यार मिला और खासकर सुष्मिता सेन 'आर्या' की एक्टिंग को खूब सराहा गया है।
 
यहां तक कि बॉलीवुड के बड़े-बड़े स्लैब शिल्पा शेट्टी और सलमान खान ने भी उनके इस जोरदार कम बैक की बधाई दी है। इस वेब सीरीज से सुष्मिता सेन ने डिजिटल डेब्यू किया है और ये कहना गलत नहीं होगा कि उनकी च्वाइस कमाल की है। 

बीते कुछ समय या यूं कहें कि लगभग एक दशक से एक्टिंग से दूर रहीं सुष्मिता सेन ने इस सीरीज के साथ दमदार वापसी की है। 'आर्या' एक क्राइम ड्रामा है, जिसे कुल 9 एपिसोड में तैयार किया गया है। हर एक एपिसोड लगभग 50 मिनट का है। लेकिन हर एक एपिसोड आपको अंत तक बांधे रखता है।
 
ये वेब सीरीज एक क्राइम ड्रामा है, जो राजा महाराजाओं की पृष्ठभूमि राजस्थान पर आधारित है। कहानी को बेहद खास और क्लासिक अंदाज में बुना गया है। अगर आप भी घर बैठकर लॉकडाउन में इस सीरीज को देखने का मन बना रहे हैं तो बिना कुछ सोचे समझे इसे अपनी फैमिली के साथ तो जरूर देखना चाहिए कि कैसे एक मां अपने परिवार और अपने बच्चों के लिए समर्पित रहती है।

आर्या का रिव्यू
आर्या वेब सीरीज़ 'डज़' वेब सीरीज़ पोनज़ा की ऑफिशियल रीमेक है। इसका अगर पोनज़ा का सिंपल मतलब निकालें तो यह लेडी डॉन होगा। कहानी भी एक लेडी डॉन के किरदार के आसपास घूमती हैं। राजस्थान में एक परिवार का मुखिया है जोरावर, जो जयपुर में गैरकानूनी काम करता है। वह अफीम की खेती करता है और दवाइयों के साथ-साथ ड्रग्स भी सप्लाई करता है।
 
लेकिन ढलती उम्र के बाद उनका ये काम संभालते हैं, उनकी बेटी आर्या (सुष्मिता सेन) के पति तेज (चंद्रचूड़ सिंह), भाई संग्राम (अंकुर भाटिया) और दोस्त जवाहर (नमित दास)। जोरावर का एक बेहद खास भरोसे का आदमी दौलत (सिकंदर खेर) है। तेज अपने अफीम से दवाईयां बनाने के काम को अपने तीनों पार्टनर्स के साथ आगे बढ़ा रहा होता है।

तभी आती है 300 करोड़ की हीरोइन की एक बड़ी डील जिसे संग्राम क्रिमिनल शेखावत से चुरा लाता है, अपने बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए, जिससे कहानी 360 डिग्री घूम जाती हैं। इसके बाद की कहानी में नए किरदारों की एंट्री होती है। इसी डील के चलते तेज को गोली मारकर उसकी हत्या कर दी जाती है और संग्राम जेल पहुंच जाता है।  वहीं, जवाहर अपनी जान बचाने की कोशिश करता है।

इस डील के चलते आर्या के परिवार पर भी खतरा मंडराने लगता है और आखिरकार आर्या वह करती है, जिससे वह हमेशा दूर भागने की कोशिश करती रही है। अपने परिवार को बचाने के लिए वह इस धंधे की डोर को अपने हाथों में लेती है और फिर पुलिस और शेखावत (मनीष चौधरी) से भी बराबर की टक्कर लेती है।
 
अपने परिवार को बचाने के लिए आर्या किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार है, लेकिन उसके लिए ये कर पाना तब और भी मुश्किल हो जाता है, जब उसी का भाई और परिवार उसके साथ धोकेबाजी करने लगता है। लेकिन क्या आर्या अपने परिवार को बचाने पाती हैं या नहीं यह तो आपको वेब सीरीज देखने पर ही पता चलेगा क्योंकि थोड़ा सस्पेंस भी तो जरूरी है।

आर्या की कास्ट
आर्या में सुष्मिता सेन लीड रोल निभा रही हैं, जिसके लिए उन्होंने इस किरदार में अपनी पूरी जान फूंक दी है। एक ठहराव के साथ उन्होंने एक्टिंग की है, कई सीन ऐसे भी आते हैं जो वाह बोलने पर मज़बूर कर देते हैं। शायद फिल्में जो सुष्मिता सेन को करने का मौका नहीं दे रही थीं, वो इस सीरीज़ ने दे दिया, यानी टफ किरदार निभाने का मौका जो उनकी पर्सनैलिटी को सूट भी करे।

सुष्मिता सेन के अलावा विकास कुमार यानी एसीपी खान का किरदार बेहतरीन है। एक अच्छे केस को सुलझाने की कोशिश में स्ट्रगल करता हुआ अफसर उनमें दिखा रहा है। उन्हें पहले आपने CID में देखा होगा। साथ ही सीरीज में उनकी एक छुपी हुई सच्चाई कि वो गे हैं, उसे भी बताया गया है।

इस सबके बीच सबसे शानदार करैक्टर लगता है सिकंदर खेर का (दौलत), जो पहले एपिसोड से दिखाई देता है पर तीसरे और चौथे एपिसोड में आकर बिल्डअप होता हैं। इसके अलावा सीरीज़ में काफी करैक्टर हैं जिन्होंने अपना-अपना किरदार बखूबी निभाया है। खासकर तीनों बच्चों के किरदार की काफी अहमियत हैं, जिसे तीनों बच्चों ने सूज भुज, समझदारी, मैच्योरिटी के साथ बखूबी निभाया।

कहां रह गई कमी
सीरीज़ को और अच्छा बनाया जा सकता था। कहानी में संदीप श्रीवास्तव और अनु चौधरी अपने किरदार में और मेहनत कर सकते थे। वेब सीरीज़ को स्पीड पकड़ने में काफ़ी टाइम लगता है। बैकग्राउंड म्यूजिक भी उतना बेहतर नहीं है और स्टोरी से कनेक्ट नहीं कर पाता।

Find Us



बॉलीवुड हलचल

बॉलीवुड की चटपटी खबरों के साथ ही पढ़िये हर नयी फिल्म की सबसे सटीक समीक्षा। साथ ही फोटो और वीडियो गैलरी में देखिये बॉलीवुड की हर हलचल।


लेटेस्ट पोस्ट


L o a d i n g