रामानंद सागर की रामायण के रावण अरविंद त्रिवेदी असल जिंदगी में हैं बहुत बड़े रामभक्त

रामानन्द सागर के रामायण में रावण के रोल से मशहूर हुए अभिनेता अरविंद त्रिवेदी के किरदार ने लोगों के दिलों में ऐसी जगह बनाई कि लोग उन्हे असल जिंदगी में रावण समझने लगे थे। अरविंद त्रिवेदी मध्य प्रदेश के इंदौर शहर से बिलॉन्ग करते हैं। अपने भाई को देखकर ही अरविंद ने एक्टिंग करने का विचार किया।

Bollywood Halchal May 02, 2020

रामानन्द सागर के रामायण में रावण के रोल से मशहूर हुए अभिनेता अरविंद त्रिवेदी के किरदार ने लोगों के दिलों में ऐसी जगह बनाई कि लोग उन्हे असल जिंदगी में रावण समझने लगे थे। अरविंद त्रिवेदी मध्य प्रदेश के इंदौर शहर से बिलॉन्ग करते हैं। उनके बड़े भाई उपेंद्र त्रिवेदी गुजराती थियेटर के मशहूर कलाकार रहे। अपने भाई को देखकर ही अरविंद ने एक्टिंग करने का विचार किया।

जीवन
अरविंद त्रिवेदी का जन्म 8 नवंबर 1938 को इंदौर, मध्य प्रदेश में हुआ था। उन्होंने बॉम्बे (अब मुंबई) के भवन कॉलेज में इंटरमीडिएट स्तर तक पढ़ाई की थी। 4 जून 1966 में उनहोंने शादी की, उनकी पत्नी का नाम नलिनी है और उनकी तीन बेटियाँ हैं।

करियर
अरविंद त्रिवेदी रामनंद सागर के टेलीविजन सीरियल रामायण में रावण की भूमिका निभाने से प्रसिद्ध हुए। वह "विक्रम और बेताल" और अन्य टीवी सीरियल में भी अभिनय कर चुके हैं। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत फिल्म 'पराया धन' से की थी। इसके बाद उन्होंने कुछ हिंदी फिल्मों के अलावा कई गुजराती फिल्मों में काम किया और अपनी पहचान बनाई। अरविंद त्रिवेदी ने लगभग 300 फिल्मों में काम कर चुके हैं।

इंटरेस्टिंग फैक्ट्स
बीबीसी को दिए इंटरव्यू में अरविंद त्रिवेदी जी बताते हैं कि रावण के किरदार के ऑडिशन के लिए 400 से भी ज्यादा लोग आए थे, लेकिन रावण का किरदार उन्हें रामजी की कृपा से मिला और इस किरदार से मेरी पूरी जिंदगी ही बदल गई। रावण का रोल करना अरविंद त्रिवेदी के लिए  मुश्किलों से भरा था उन्हें तैयार होने में 5 से ज्यादा  घंटे लगते थे, उनके कॉस्ट्यूम काफी भारी होते थे और लगभग 10 किलो का सिर्फ उनका मुकुट ही था। इसके अलावा आभूषणों का वजन भी बहुत ज्यादा था।

अरविंद त्रिवेदी शूटिंग के दिनों लंबी पूजा किया करते थे, शूटिंग के दौरान वह उपवास रखकर जाते थे। शूटिंग पूरी होने और पूरा मेकअप निकल जाने के बाद ही उपवास तोड़ते थे, वह सेट पर जाने से पहले रामजी की पूजा करते थे और उनसे माफी मांगते थे कि वह जो अपशब्द बोलने जा रहे हैं वह सिर्फ किरदार के लिए है।

अरविंद त्रिवेदी ने रामानंद सागर से केवट के रोल की मांग की थी लेकिन रामानंद सागर ने उन्हें रावण की स्क्रिप्ट दे दी। अरविंद त्रिवेदी ने स्क्रिप्ट पढ़ी और कोई जवाब नहीं दिया और चले गए। लेकिन रामानंद सागर को न जाने उनमें क्या दिखा और वह अरविंद को रोककर बोले कि उन्हें अपना लंकेश मिल गया है।

अरविंद त्रिवेदी ने  रामानंद सागर को कोई डायलॉग नहीं सुनाया था, रामानंद सागर ने उनकी चाल-ढाल देखकर उनको रावण का किरदार दे दिया था, उनको 'रामायण' के लिए जैसा रावण चाहिए था जिसमें बुद्धि-बल हो और मुख पर तेज वह उनको अरविंद में दिख गया था।

सबसे इंटरेस्टिंग  बात यह है कि 'रामायण' में सबसे बड़े खलनायक रावण का किरदार निभाने वाले अरविंद त्रिवेदी वास्तविक जीवन में राम भक्त हैं और कई सोशल वर्क संस्थाओं से जुड़े हुए हैं। गुजराती सिनेमा में महत्वपूर्ण  योगदान के लिए उन्हें कई अवॉर्ड भी  मिले है और उन्हे  गुजरात की सरकार ने भी सम्मानित किया।

81 साल के हो चुके अरविंद त्रिवेदी  अब  चलने-फिरने में असमर्थ रहते हैं। अब उनका ज्यादातर वक्त राम नाम जपने में बीतता है। अरविंद त्रिवेदी 1991 में लोकसभा चुनाव बीजेपी के टिकट से लड़ चुके हैं और जीते भी है।

रावण के रूप में प्रसिद्धि
अरविंद त्रिवेदी ने 250 के करीब फिल्मों में काम किया, लेकिन वह रामायण से रावण के रूप में प्रसिद्धि हासिल की। दिलचस्प बात यह है कि यह किरदार एक नकारात्मक सोच का किरदार है जिसे उन्होंने कभी भी अपने करियर में नहीं निभाया है।

संसद के सदस्य के रूप में
रावन की भूमिका ने उन्हें प्रसिद्धि दी और उन्होंने गुजरात में साबरकंठा में निर्वाचन क्षेत्र से लोकसभा टिकट लिया और उन्होंने 1991 से 1996 तक संसद के सदस्य के रूप में कार्य किया।

सीबीएफसी में कार्यवाहक अध्यक्ष
2012 में, अरविंद त्रिवेदी को विजय आनंद के बाद के केंद्रीय ब्यूरो ऑफ फिल्म और प्रमाणीकरण के कार्यवाहक अध्यक्ष (एक्टिंग चेयरमैन) नियुक्त किया गया था।

अरविंद त्रिवेदी ने ट्विटर पर की एंट्री
अरविंद त्रिवेदी के फैन्स उन्हें लगातार माइक्रो ब्लॉगिंग साइट पर फॉलो कर रह थे, अपने फैन्स के लिए अरविंद त्रिवेदी ने ट्विटर पर ट्वीट किया, 'बच्चों के कहने पर और आपके प्रेम के कारण मैं ट्विटर पर आया हूं, यह मेरी ओरिजिनल आइडी है।'

अरविंद त्रिवेदी की प्रमुख फिल्में और टीवी सीरिज हैं- त्रिमूर्ति, रामायण, विक्रम और बेताल, ब्रह्मर्षि विश्वामित्र, पराया धन, जंगल में मंगल, आज की ताजा ख़बर, ढोली, मनियारो, संतु रंगीली आदि।

Find Us



बॉलीवुड हलचल

बॉलीवुड की चटपटी खबरों के साथ ही पढ़िये हर नयी फिल्म की सबसे सटीक समीक्षा। साथ ही फोटो और वीडियो गैलरी में देखिये बॉलीवुड की हर हलचल।


लेटेस्ट पोस्ट


L o a d i n g