महाभारत तो ज़रूर देखी होगी लेकिन आप नहीं जानते होंगे उससे जुड़े ये 10 बड़े फैक्ट्स

महाभारत का पहला एपिसोड 31 साल पहले दूरदर्शन पर 31 अक्टूबर 1988 को प्रसारित किया गया था। 94 एपिसोड वाले महाभारत को टीवी लोकप्रियता के मामले में स्वर्ण मानक माना जाता हैं।

Bollywood Halchal Apr 11, 2020

टीवी धारावाहिक महाभारत भारतीय टेलीविजन इतिहास के सबसे प्रसिद्ध शो में से एक था और आज भी हैं। इसके निर्देशक रवि चोपड़ा ने महर्षि वेदव्यास द्वारा लिखित हिंदू महाकाव्य “महाभारत” को एक टीवी चित्रण का रूप दिया था। महाभारत का पहला एपिसोड 31 साल पहले दूरदर्शन पर 31 अक्टूबर 1988 को प्रसारित किया गया था। 94 एपिसोड वाले महाभारत को टीवी लोकप्रियता के मामले में स्वर्ण मानक माना जाता हैं। चूँकि इस वक्त पूरी दुनिया समेत भारत कोरोना वैश्विक महामारी के संकट से गुजर रहा है और सभी लोग लॉक डाउन के चलते अपने घरों में हैं इसलिए लोगों की मांग पर 28 मार्च 2020 को केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने यह जानकारी दी कि राष्ट्रीय प्रसारक दूरदर्शन अपने दर्शकों के लिए एक बार फिर टीवी पर 'रामायण' और 'महाभारत' का प्रसारण शुरू कर रहा हैं। जिसके बाद डीडी भारती पर रोज सुबह 12:00 बजे और शाम 7:00 बजे महाभारत का 1 घंटे का प्रसारण होता है, जिसने फिर से एक बार सभी को टीवी से चिपकने पर मजबूर कर दिया है।
 
महाभारत धारावाहिक में जिन कलाकारों ने द्रौपदी ,कृष्ण और भीष्म का रोल निभाया आज भी लोग उन्हें उनके इन किरदारों के लिए जानते हैं। इसलिए आज हम आपको महाभारत धारावाहिक से जुड़े कुछ रोचक तथ्यों से अवगत कराएंगे जिनके बारे में शायद आप ना जानते हो।
 
1. जूही चावला को द्रौपदी की भूमिका की पेशकश की गई थी
रूपा गांगुली को महाभारत की द्रौपदी की भूमिका के लिए सबसे ज्यादा याद किया जाता हैं।रूपा गांगुली को उनके सही हिंदी डिक्शन के कारण चुना गया था। जिस अंदाज़ और कलाकारी से उन्होंने इस किरदार  को निभाया वह सराहनीय हैं। परंतु क्या आप जानते हैं कि रूपा गांगुली से पहले द्रौपदी का किरदार निभाने का अवसर जूही चावला को दिया गया था। परंतु उन्होंने इससे इंकार कर दिया क्योंकि जूही चावला ने पहले ही अपनी फिल्म “कयामत से कयामत तक” में अभिनय करने का निर्णय ले लिया था।
 
2. मुकेश खन्ना अर्जुन का किरदार निभाना चाहते थे
भीष्म पितामह का किरदार निभा रहे मुकेश खन्ना को पहले दुर्योधन का किरदार निभाने के लिए कहा गया था परंतु उन्होंने इससे इंकार कर दिया था। ई-टाइम्स टीवी के साथ एक विशेष साक्षात्कार में मुकेश खन्ना ने खुलासा किया कि "बीआर चोपड़ा सर ने मुझे दुर्योधन की भूमिका की पेशकश की, लेकिन मैं अर्जुन की भूमिका करना चाहता था, परंतु वह भूमिका पहले ही ले ली गई थी फिर मैंने भीष्म का किरदार निभाने का निर्णय लिया और अब मुझे लगता है कि यह मेरे करियर की सर्वश्रेष्ठ भूमिका थी।"
 
3. नितीश भारद्वाज कृष्णा का किरदार नहीं करना चाहते थे 
अनुभवी अभिनेता नितीश भारद्वाज जो आज तक कृष्ण की भूमिका निभाने के लिए याद किए जाते हैं वह ऐसा मानते थे कि उनके पास  यह किरदार निभाने के लिए पर्याप्त अनुभव नहीं है। खबरों के मुताबिक उन्होंने निर्माता बीआर चोपड़ा को कई दिनों तक इसलिए टाला क्योंकि वह स्क्रीन टेस्ट नहीं देना चाहते थे। वह अभिमन्यु की एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाना चाहते थे परंतु बी आर चोपड़ा ने तो नितीश भारद्वाज की मुस्कुराहट को देखकर ही उन्हें कृष्ण का किरदार देने का निर्णय लिया था। अंततः उन्हें वही किरदार मिला जिसे उन्होंने बखूबी निभाया।
 
4. नकुल और सहदेव वास्तविक जीवन में भाई थे
क्या आप जानते हैं महाभारत के पांच पांडवों में से दो का किरदार निभा चुके समीर चित्रे और संजीव चित्रे जिन्होंने क्रमशः नकुल और सहदेव की भूमिका निभाई वह असली जीवन में भी एक दूसरे के भाई थे।
 
5. कर्ण सेट पर हुए थे दुर्घटनाग्रस्त 
महाभारत को युद्ध के दृश्यों के लिए भी मशहूर माना जाता हैं। युद्ध के दृश्यों में से एक की शूटिंग के दौरान अनुभवी अभिनेता पंकज धीर जो कर्ण का किरदार निभा रहे थे उन के साथ सेट पर एक दुर्घटना हो गई थी। जिस रथ पर वह सवार वह थे वह अचानक से टूट गया और मुनासिब उनका घोड़ा दौड़ पड़ा जिसके चलते एक तीर ठीक उनकी आंख के नीचे आकर लगा और वह चोटिल हो गए। जिसके चलते उन्हें एक सर्जरी से भी गुज़रना पड़ा था।
 
6. उर्दू के कवि-गीतकार-संवाद लेखक राही मासूम रज़ा की मृत्यु
डॉ राही मासूम रजा जिन्होंने इस अद्भुत धारावाहिक के संवाद लिखे उन्होंने कहा था कि उन्होंने महाभारत को लिखने की चुनौती स्वीकार की थी क्योंकि उन्हें विश्वास था कि वह भारत के अतीत को वर्तमान से जोड़ सकते हैं। महाभारत की शूटिंग खत्म होने के बाद ही उनकी मृत्यु हो गई थी। उन्होंने तुलसी तेरे आंगन की और डिस्को डांसर जैसी लोकप्रिय फिल्मों की पटकथा भी लिखी थी।
 
7. फिरोज़ खान ने एक बार बीआर चोपड़ा से मुकेश खन्ना की शिकायत करी थी
ई-टाइम्स टीवी के साथ एक विशेष साक्षात्कार में मुकेश खन्ना ने खुलासा किया कि राही मासूम रज़ा और मेरी आपस में काफी बनती थी और रज़ा साहब अक्सर मेरे अभिनय की बड़ी प्रशंसा किया करते थे। लेकिन मैंने हमेशा उन्हें बताया कि यह उनका लेखन और मेरा संयुक्त प्रयास था जो ऑनस्क्रीन चमत्कार करता था। वह बताते थे कि जब भी मैं भीष्म के लिए संवाद या डायलॉग लिखता था तो मेरा कलम अपने आप ही चलने लगता था परंतु जब मैं किसी और के लिए जैसे अर्जुन के लिए डायलॉग लिखता था तो मुझे संघर्ष करना पड़ता था। जिस कारण मुझे भीष्म के किरदार के लिए लंबे-लंबे डायलॉग मिलते थे जिसकी वजह से फिरोज खान चिंतित हो जाते थे। एक बार तो वह परेशान होकर बी आर चोपड़ा के घर गए और मेरी शिकायत कर दी और  कहा कि मुकेश को ही इतने लंबे डायलॉग क्यों मिलते हैं?
 
8. शो की कास्टिंग इस लोकप्रिय अभिनेता द्वारा की गई थी
महाभारत में दुर्योधन के मामा का किरदार निभाने वाले गुफी पेंटाल महाभारत के निर्णायक निर्देशक थे। विभिन्न चरित्रों को अंतिम रूप देने के लिए उन्हें 8 महीने की वीडियो टेस्टिंग और हिंदी डिक्शन की जाँच में लग गए थे और उन्होंने ही पूरी महाभारत की कास्ट का चयन किया था।
 
9. अभिमन्यु का किरदार निभाने का अवसर गोविंदा और चंकी पांडे को मिला था 
महाभारत में अभिमन्यु का किरदार निभाने का अवसर पहले गोविंदा और चंकी पांडे को दिया गया था। परंतु उन दोनों ने पहले ही अपनी फिल्में साइन कर ली थी। जिसके बाद यह किरदार मास्टर मयूर को मिला।

10.    एक साथ प्रसारित होने जा रही थी महाभारत और रामायण
मुकेश खन्ना ने एक साक्षात्कार में बताया कि शुरुआत में महाभारत और रामायण को एक साथ टीवी पर प्रसारित करने के बारे में सोचा जा रहा था। लेकिन बाद में यह निर्णय लिया गया कि रामायण को पहले प्रसारित किया जाएगा क्योंकि दो महाकाव्यों को एक साथ लाना एक अच्छा विचार नहीं होगा। दर्शक भी इसे ज्यादा पसंद नहीं करेंगे, इसलिए महाभारत को बाद में प्रसारित करने का निर्णय लिया गया।


Find Us



बॉलीवुड हलचल

बॉलीवुड की चटपटी खबरों के साथ ही पढ़िये हर नयी फिल्म की सबसे सटीक समीक्षा। साथ ही फोटो और वीडियो गैलरी में देखिये बॉलीवुड की हर हलचल।


लेटेस्ट पोस्ट


L o a d i n g