एक्ट्रेस नहीं बनना चाहती थीं माधुरी दीक्षित, इस तरह मिला था बॉलीवुड में पहला ब्रेक

बचपन में माधुरी ने कभी यह सोचा भी नहीं था कि वे एक्टिंग में अपना करियर बनाएंगी। माधुरी का रुझान माइक्रोबायोलॉजी की पढाई में था। हालाँकि, किस्मत को कुछ और ही मौजूद था। माधुरी मुंबई के एक कॉलेज में माइक्रोबायोलॉजी की पढाई कर रही थीं जब राजश्री प्रोडक्शंस से गोविंद जी की नज़र माधुरी पर पड़ी।

Bollywood Halchal May 15, 2021

अपने डांस और मनमोहक मुस्कान से लाखों दिलों पर राज करने वाली मशहूर बॉलीवुड अभिनेत्री माधुरी दीक्षित का आज जन्मदिन है। आइए इस खास मौके पर जानते हैं माधुरी की ज़िंदगी से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें - 

माधुरी दीक्षित का जन्म 15 मई 1967 को मुंबई में हुआ था। बॉलीवुड में अपने डांस के लिए मशहूर माधुरी एक ट्रेंड कत्थक डांसर हैं। महज 9 साल की उम्र में माधुरी को कत्थक डांसर के तौर पर स्कॉलरशिप भी मिली थी। बचपन में माधुरी ने कभी यह सोचा भी नहीं था कि वे एक्टिंग में अपना करियर बनाएंगी। माधुरी का रुझान माइक्रोबायोलॉजी की पढाई में था। हालाँकि, किस्मत को कुछ और ही मौजूद था। दरअसल, माधुरी मुंबई के एक कॉलेज में माइक्रोबायोलॉजी की पढाई कर रही थीं जब राजश्री प्रोडक्शंस से गोविंद जी की नज़र माधुरी पर पड़ी और इस तरह उन्हें हिंदी फिल्मों में पहला ब्रेक मिला।   

बॉलीवुड का शानदार सफर 
माधुरी ने राजश्री प्रोडक्शन की साल 1984 में आई फिल्म ‘अबोध’ से अपना बॉलीवुड डेब्यू किया था। हालाँकि, उन्हें असली पहचान 1988 में आई फिल्म ‘तेजाब’ से मिली। इस फिल्म के बाद से माधुरी ने कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा और एक के बाद एक हिट फ़िल्में देती गईं। माधुरी ने ‘राम लखन’, ’परिंदा’, ‘दिल’, ‘साजन’, ‘बेटा’, ‘खलनायक’, ‘हम आपके हैं कौन’, ‘राजा’, और ‘दिल तो पागल है’ जैसी कई बेहतरीन फिल्मों में अपनी एक्टिंग का जलवा दिखाया है। 
माधुरी को अपनी बेहतरीन एक्टिंग के लिए 6 फिल्मफेयर पुरस्कार मिले हैं, जिसमें 4 सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री, एक सर्वश्रेष्ठ सह कलाकार और एक विशेष पुरस्कार शामिल हैं। भारतीय फिल्म जगत में माधुरी के बेहतरीन योगदान के लिए वर्ष 2008 में भारत सरकार ने उन्हें पद्म श्री से भी नवाजा था। 

माधुरी और संजय दत्त के अफेयर के चर्चे  
एक समय था जब बॉलीवुड इंडस्ट्री का बड़े से बड़ा कलाकार माधुरी के साथ काम करना चाहता था। उस वक्त माधुरी और संजय दत्त के अफेयर की चर्चा चारों तरफ थी। कहा जाता है कि माधुरी और संजय उन दिनों इतना ज़्यादा नजदीक आ गए थे कि फिल्ममेकर्स को डर था कि कहीं माधुरी फिल्म के बीच में ही शादी न कर लें या प्रेगनेंट न हो जाएं। यही वजह है कि 'खलनायक' फिल्म की शूटिंग के दौरान डायरेक्टर सुभाष घई ने माधुरी से 'नो प्रेग्नेंसी' क्लॉज साइन करवाया था। हालाँकि, संजय उस वक्त पहले से ही शादीशुदा थे और कुछ समय के बाद माधुरी ने संजय के साथ अपना रिश्ता खत्म कर लिया था। वहीं,  मशहूर पेंटिंग आर्टिस्ट एम एफ हुसैन भी माधुरी के बहुत बड़े फैन थे।  उन्होंने अपनी फिल्म 'गज गामिनी' को माधुरी दीक्षित को डेडिकेट कर दिया था। 

बॉलीवुड में वापसी 
बॉलीवुड में माधुरी अपने करियर के पीक पर थीं जब उन्होंने 17 अक्तूबर 1999 को अमेरिका में बसे भारतीय डॉक्टर श्रीराम नेने से शादी कर ली। इसके बाद  माधुरी अमेरिका जा बसीं और फिल्मों से एक लंबा ब्रेक ले लिया। माधुरी और श्रीराम नेने के दो बेटे - रयान और अरिन हैं। एक लंबे समय तक अमेरिका में रहने के बाद 2006 में माधुरी पूरे परिवार के साथ भारत वापस लौटीं। इसके बाद 2007 में फिल्म ‘आजा नच ले’ से माधुरी ने एक बार फिर बड़े पर्दे पर वापसी की लेकिन यह फिल्म कुछ खास नहीं चली। इसके बाद माधुरी छोटे पर्दे पर भी नजर आईं। वह रिएलटी शो ‘झलक दिखला जा’ में बतौर जज नजर आ चुकी हैं। इसके अलावा माधुरी तमाम विज्ञापनों में भी नजर आती हैं।



Find Us



बॉलीवुड हलचल

बॉलीवुड की चटपटी खबरों के साथ ही पढ़िये हर नयी फिल्म की सबसे सटीक समीक्षा। साथ ही फोटो और वीडियो गैलरी में देखिये बॉलीवुड की हर हलचल।


लेटेस्ट पोस्ट


L o a d i n g