आज ही के दिन जन्मी थी यह 3 नामचीन हस्तियां, जिन्होंने संघर्ष के दौर से गुजरते हुए भी खूब नाम कमाया

कुमार सानू, तनुजा और प्रेम चोपड़ा का जन्म आज के ही दिन हुआ था। आज के ही दिन तीनों कलाकार अपने जन्मदिन को अलग अलग तरीके से सेलिब्रेट कर रहे हैं। तो आइए जानते हैं इन बॉलीवुड की मशहूर हस्तियों के बारे में कुछ इंटरेस्टिंग फैक्ट्स जिन्हें हर कोई नहीं जानता है।

Bollywood Halchal Sep 23, 2020

आए दिन किसी ना किसी बॉलीवुड की मशहूर हस्तियों का जन्मदिन रहता है। कुछ ऐसे कलाकार हैं जो अपने जिंदगी में संघर्ष के दम पर सफलता के शिखर पर पहुंच जाते हैं। कुमार सानू, तनुजा और प्रेम चोपड़ा का जन्म आज के ही दिन हुआ था। आज के ही दिन तीनों कलाकार अपने जन्मदिन को अलग अलग तरीके से सेलिब्रेट कर रहे हैं। तो आइए जानते हैं इन बॉलीवुड की मशहूर हस्तियों के बारे में कुछ इंटरेस्टिंग फैक्ट्स जिन्हें हर कोई नहीं जानता है।

कुमार सानू

1) 20 अक्टूबर 1957 में कोलकाता में जन्में कुमार सानू का वास्तविक नाम केदारनाथ भट्टाचार्य है।

2) कुमार सानू की संगीत में रूचि बचपन से ही थी। उन्होंने एक दिन में 28 गाने गाकर रिकार्ड अपने नाम कर लिया है।

3) सानू हिन्दी, बंगाली और अन्य भाषाओं में 14 हजार से भी अधिक गाने ना गा चुके है। 

4) कुमार सानू के पिता पशुपति भट्टाचार्य भी संगीत से जुड़े हुए थे और वह एक अच्छे और मनमोहक संगीतकार के साथ साथ बेहतरीन वादक भी थे।

5) वर्ष 1990 में फ़िल्म 'आशिकी' ने कुमार सानू का जीवन ही बदल दिया। फ़िल्म ने उन्हें नाम और शोहरत तो दिलाई साथ ही उनको हिन्दी फ़िल्म जगत में एक महत्वपूर्ण स्थान दिला दिया।

6) सफलता के शिखर पर पहुँचने के लिए उन्हें खूब संघर्ष करना पड़ा था। संघर्ष के शुरूआती दौर में उन्हें माफिया गैंग के फोर्स करने पर रेलवे ट्रैक पर डर-डर कर गाना गाना और नाचना पड़ता था। माफिया गैंग के सामने गाना गाने से कुमार सानू के पिता बहुत नाराज़ हो गए थे।

7) कुमार सानू के पिता पुरानी सोच के थे और माफिया वाली बात से वह इतने नाराज़ हो गए थे कि कि उन्होंने कुमार सानू को थप्पड़ तक जड़ दिया था।

8) उनके पिता का यह मानना था कि संगीत को दर्शाने का सही स्थान और तरीका होता है। सानू ने साल 2015 में रोमांटिक कॉमेडी फ़िल्म 'दम लगाके हइशा' में संगीत फरमाया था।

9) इस फ़िल्म के बाद कुमार सानू बाॅलीवूड से कटे-कटे दिखे क्योंकि वह अपने पिता की सोच से बहुत प्रभावित थे।

10) कुमार सानु का मानना था कि आज के समय में गानों में अश्लीलता भरी पड़ी है और वह अश्लील गाने नहीं गा सकते।

तनुजा

1) 'छबीली' फ़िल्म से अपने फ़िल्मी करियर में कदम रखने वाली मशहूर अभिनेत्री तनुजा का जन्म 23 सितंबर 1943, मुम्बई में हुआ।

2) उनके पिता कुमारसेन फ़िल्म निर्देशक थे और उनकी मां शोभना समर्थ अभिनेत्री थी।

3) अपने बोल्ड अन्दाज़ से मशहूर अभिनेत्री तनुजा के अन्दर अभिनय का कीड़ा बचपन से ही था। उनकी माँ और उनकी बड़ी बहन नूतन भी फेमस अभिनेत्री थी जिसके कारण उन्हें भी फिल्मो का खूब शौक था।

4) तनुजा हिंदी, बांग्ला, गुजराती, मराठी, मलयालम, पंजाबी आदि भाषाओं में भी फिल्मों में अभिनय कर चुकी है।

5) तनुजा बतौर चाइल्ड एक्ट्रर भी काम कर चुकी है, उन्होंने साल 1950 में अपनी माँ के होम प्रोडक्शन की फ़िल्म ‘हमारी बेटी’ में काम किया है।

6) साल 1973 में उन्होंने शशधर मुखर्जी के सबसे छोटे पुत्र शोमू मुखर्जी से विवाह कर लिया।

7) उनकी दो बेटियां है काजोल और तनीषा।वह अपने समय में अपनी दोनों बेटियों से बेहद खूबसूरत थी।

8) उनके फ़िल्मी करियर में टर्नीग प्वाट फ़िल्म "हमारी याद आयेगी" से आया, जो उनकी करियर के लिए बेहद महत्वपूर्ण साबित हुआ।

9) अपनी बोल्ड अंदाज से मशहूर तनुजा अपनी बातों को कहने में कभी भी हिचकिचाती नहीं थी।एक बार उन्होंने "बहारें फिर भी आएंगी" फ़िल्म में शूटिंग के दौरान अपने बोल्ड अन्दाज़ में फिल्मकार गुरुदत्त से कहा थी कि गुरू मरने के बाद अपनी लाइब्रेरी मेरे नाम लिख जाना।

10) "छबीली फ़िल्म और केदार शर्मा की फ़िल्म के शूटिंग के वक्त तनुजा ने पूरी यूनिट के नाक में दम कर दिया था। शूटिंग को मज़ाक की तरह लेने की वज़ह से केदार शर्मा ने तनुजा को थप्पड़ तक मार दिया था।

11) इसकी शिकायत उन्होंने अपने माँ शोभना से भी की, पूरी बात सुन कर उनकी माँ ने उल्टा तनुजा को ही थप्पड़ मारा क्योंकि वह अपनी बेटी की आदतों को जानती थी।

प्रेम चोपड़ा

1) 23 सितंब 1935, लाहौर में जन्में प्रेम चोपड़ा ने अपनी बेहतरीन विलन की आदाकारी से बड़े-बड़े अभिनेताओं को ताबड़तोड़ कौम्पटीशन दिया है। पार्टीशन के बाद वह और उनका पूरा परिवार शिमला में रहने लगे।उन्होंने अपनी शुरुआती पढ़ाई भी यही से की। 

2) उनके पिता का नाम रनबीर लाल चोपड़ा और माँ का नाम रूपरानी चोपड़ा है। प्रेम के पिता का सपना उनको अफसर या डाॅक्टर बनाना था।

3) प्रेम के फ़िल्मी करियर की शुरुआत साल 1961 में हुई।फ़िल्म इन्डस्ट्री के शुरूआती समय में उनका संघर्ष का दौर भी कुछ कम नहीं था।

4) संघर्ष के समय प्रेम अखबार तक बेचने का काम कर चुके है। उन्होंने कुछ हिन्दी और पंजाबी फ़िल्में को भी किया लेकिन इससे उनका खर्च नहीं चल पाता था।

5 )संघर्षो के दौर में ही प्रेम की पहली हिट फ़िल्म 'वो कौन सी' साबित हुई जिसमें उनकी खुब प्रशंसा हुई  लेकिन इससे उनको व्यक्तिगत कुछ ख़ास मुनाफा नहीं हुआ था। 

6) प्रेम अपनी फिल्मों के साथ-साथ पार्ट टाइम जॉब अखबार बेचने का काम करते रहे लेकिन एक समय ऐसा आया कि टाइम ना होने के वज़ह से उन्हें 'उपकार' फ़िल्म करते वक्त अपनी पार्ट टाईम जॉब से हाथ धोना पड़ा।

7) उन्होंने कई फिल्मों में बतौर हीरो भी काम किया लेकिन वह बतौर हीरो असफल नहीं रहे। उनको फ़िल्मों मे नेगेटिव रोल करने की सलाह दी गई और वह बतौर विलन बहुत हिट साबित हुए।

8) उनके फ़िल्म करियर में जैसें  'शहीद' (1965), बॉबी (1973), बेताब (1983), गुप्त (1997) और कोई मिल गया (2003) आदि फिल्में बहुत हिट साबित हुई।

9) प्रेम 379 से भी अधिक फ़िल्मों में खलनायक की भूमिका मे काम कर चुके है। अपनी फ़िल्मों में उन्होंने 220 से भी अधिक रेप सीन किए है। 

10) प्रेम चोपड़ा एकमात्र ऐसे अभिनेता है जिन्होंने कपूर फैमली की सभी पीढ़ियों के साथ काम किया है।



Find Us



बॉलीवुड हलचल

बॉलीवुड की चटपटी खबरों के साथ ही पढ़िये हर नयी फिल्म की सबसे सटीक समीक्षा। साथ ही फोटो और वीडियो गैलरी में देखिये बॉलीवुड की हर हलचल।


लेटेस्ट पोस्ट


L o a d i n g