जानिए किससे अपना प्यार साबित करने के लिए श्रीदेवी ने बांधी थी बोनी कपूर को राखी

मिथुन और श्री के बीच प्यार और आकर्षण दोनों ही परवान चढ़ गया था। इस प्रेम कहानी में एक ट्विस्ट तब आया जब मिथुन के अच्छे दोस्त फिल्म निर्माता निर्देशक बोनी कपूर भी श्रीदेवी को पहली नज़र से चाहने लगे थे, बोनी कपूर का झुकाव श्री की तरफ साफ-साफ नजर आता था।

Bollywood Halchal Jun 25, 2020

बॉलीवुड की दुनिया में कई ऐसी प्रेम कहानियां हैं जो अधूरी रह गईं। कुछ ऐसी ही प्रेम कहानी है, श्रीदेवी और मिथुन चक्रवर्ती की 70 के दशक में डिस्को डांसर मिथुन और श्रीदेवी की ‘जाग उठा इंसान’ के सेट पर पहली बार मुलाकात हुई थी। पहली नज़र में दोनों ही एक दुसरे को पसंद कर बैठे थे।
 
उस दौर में छपी ख़बरों के मुताबिक फिल्म की शूटिंग के दौरान दोनों ने एक दुसरे से अपने प्यार का इज़हार भी कर दिया था। जैसे-जैसे फ़िल्म की शूटिंग आगे बढ़ने लगी दोनों का इश्क़ परवान चढ़ने लगा। दोनों ने प्यार में एक दुसरे के लिए कसमें तक खाई और प्रेमियों की तरह ही दोनों ने बड़े-बड़े वादे भी किये लेकिन दोनों के ही सारे वादे और कसमें बेतुकी साबित हुई, क्योंकि इन दोनों की प्रेम कहानी भी और लोगों की तरह नाकाम हो गई। 

मिथुन और श्रीदेवी का प्यार परवान तो चढ़ गया था लेकिन दोनों की प्यार ही राह बिल्कुल भी आसान नहीं थी। क्योंकि मिथुन चक्रवर्ती पहले से शादीशुदा थे और वो अपनी पत्नी को भी नहीं छोड़ सकते थे। क्योंकि वो अपनी पत्नी से भी बेइंतहा प्यार करते थे साथ ही वो श्री को भी छोड़ नहीं पा रहे थे। मिथुन और श्री के बीच प्यार और आकर्षण दोनों ही परवान चढ़ गया था। इस प्रेम कहानी में एक ट्विस्ट तब आया जब मिथुन के अच्छे दोस्त फिल्म निर्माता निर्देशक बोनी कपूर भी श्रीदेवी को पहली नज़र से चाहने लगे थे, बोनी कपूर का झुकाव श्री की तरफ साफ-साफ नजर आता था। 

एक मैग्ज़ीन में छपी खबर के मुताबिक श्रीदेवी और मिथुन की नजदीकियों की वजह से बोनी कपूर ने कभी श्रीदेवी से अपने प्यार का इज़हार नहीं कर पा रहे थे। बोनी कपूर ने खुद बताया था कि श्रीदेवी को मिलने वो चेन्नई गए थे लेकिन उस वक्त श्रीदेवी ने उन्हें तवज्जो नहीं दी थी। एक तरफा प्यार ने बोनी कपूर को श्री की तरफ झुका रखा था। चेन्नई में तवज्जो ना मिलने के बाद भी बोनी ने श्री को चाहना नहीं छोड़ा।
 
सन 1985-86 में जब बोनी कपूर फिल्म मिस्टर इंडिया फ़िल्म बनाना चाहते थे तो अपनी फिल्म की मुख्य अभिनेत्री के तौर पर उन्होंने श्री को ही चुना जब वो मिस्टर इंडिया फ़िल्म का ऑफर श्री के पास लेके गए तो श्रीदेवी ने उन्हें अपनी मां के पास भेज दिया। श्रीदेवी की मां ने बोनी से 10 लाख रुपए की डिमांड कर दी। 

उस दौर के हिसाब से ये रकम बहुत ज्यादा थी, लेकिन बोनी को हर हालत में अपनी फिल्म की मुख्य अभिनेत्री के रूप में श्रीदेवी ही चाहिए थी। अब फ़िल्म की कहानी की जरूरत कहिए या बोनी का श्री के लिए एक तरफा प्यार, श्रीदेवी और उनकी मां को इंप्रेस करने के लिए बोनी ने 11 लाख रुपए दिए थे।
 
जहां एक तरफ बोनी कपूर किसी ना किसी बहाने से श्रीदेवी के करीब आना चाहते थे तो वहीं मिथुन चक्रवर्ती को बोनी का श्रीदेवी के प्रति आकर्षण खटकने लगा था। उनके मन में बहुत ही ज्यादा हलचल होने लगी थी जब उन्होंने अपनी यह परेशानी श्रीदवी के सामने रखी तो श्री ने मिथुन के प्रति अपना प्यार साबित करने के लिए मिथुन के सामने ही बोनी कपूर को राखी बांध दी थी।
 
उसके बाद सन 1984 में बोनी कपूर ने अपने घरवालों की मर्ज़ी से मोना से शादी कर ली थी। श्री और मिथुन के बीच में से बोनी कपूर तो हट गए थे लेकिन अभी भी उनकी प्रेम कहानी अपने पड़ाव पर नहीं पहुँची थी।

अब उनकी प्रेम कहानी रोकने का कारण बन रही थी मिथुन की पहली पत्नी योगिता, मिथुन उन्हें आसानी से छोड़ भी नहीं सकते थे, क्योंकि योगिता के साथ उनका परिवारिक और वैवाहिक जीवन बहुत ही अच्छा और शांतिपूर्ण चल रहा था। दोनों के बीच में किसी भी बात का विवाद या मन भेद नहीं था। लेकिन श्री चाहती थीं कि मिथुन योगिता को तलाक़ दें और फिर दोनों शादी करके साथ रहें।
 
मिथुन ने श्री को आश्वासन दिया। सुना तो यह भी है कि दोनों ने गुपचुप शादी भी कर ली थी। जब दोनों साथ रहने लगे तो मिथुन को बच्चों की याद आने लगी थी और तभी योगिता से तलाक़ की बात आई तो योगिता ने आत्महत्या तक करने की कोशिश की, योगिता के इस कदम ने मिथुन को बुरी तरह हिला दिया और वो डर गए इसके बाद मिथुन अपनी पत्नी के पास लौट आए और मिथुन के ऐसा करने से श्रीदेवी बुरी तरह टूट गयी थी और श्री टूटे दिल के साथ वो मिथुन को भुलाने को कोशिश करने लगीं थी। 

इसी बीच वो बोनी से अपने दिल की बातें शेयर करने लगीं, इस तरह दोनों क़रीब आ गए फिर दोनों ने एक दूसरे का ज़िंदगी भर के लिए हाथ थामने का फैसला किया। उसके बाद जो हुआ वो पूरी दुनिया के सामने है, कभी बोनी को राखी बांध चुकीं श्रीदवी अब बोनी से बेइंतिहा प्यार करतीं थी।
 
शादी से पहले ही श्रीदेवी बोनी कपूर के बच्चे की माँ बनने वाली थी और इसीलिए दोनों ने शादी करके अपने इस रिश्ते को नाम दिया। बोनी ने श्री से शादी के लिए अपनी पत्नी मोना को छोड़ दिया। इसलिए अर्जुन कपूर को अपने पिता बोनी कपूर से इस बात की हमेशा शिकायत रही। ख़ैर इंसानी रिश्ते ऐसे ही होते हैं, किसी की ख़ुशी में दूसरे का दर्द छिपा होता है।



Find Us



बॉलीवुड हलचल

बॉलीवुड की चटपटी खबरों के साथ ही पढ़िये हर नयी फिल्म की सबसे सटीक समीक्षा। साथ ही फोटो और वीडियो गैलरी में देखिये बॉलीवुड की हर हलचल।


लेटेस्ट पोस्ट


L o a d i n g